रीयूजएबल सैनेटरी पैड पर्यावण संरक्षण में लाभकारी- शेफ गुरविंदर कौर

0
Advertisement

S.H.E. society जो कि एक गैर सरकारी संगठन और पिछले कई सालों से लोगो की सेवा में लगी हुई है। सोसाइटी के अध्यक्ष जीवन ज्योत कौर ने विश्व स्तर पर समाज कल्याण और पर्यावरण के नुकसान को कम करने के लिए “ EcoShe – The Reusable Pad Affect” की शुरुआत की थी,

Advertisement


जिसके तहत आज श्री गुरु तेग बहादुर पब्लिक स्कूल, मॉडल टाउन, करनाल में एक पायलट कार्यक्रम “मासिक धर्म कार्यक्रम” आयोजित किया गया। शेफ गुरविंदर कौर ने उपस्थित छात्रों को बाजार में मिलने वाले सेनेटरी पैड से होने वाले नुकसान के बारे में बताया और उन्होंने बताया के कैसे एक पैड को गलने में 500-800 साल लग जातें है,

जबकि एक महिला अपने पुरे जीवन में 125-150 किलोग्राम सैनेटरी पैड उपयोग करती है। जिससे हम यह अंदाजा लगा सकतें है के हम अपने साथ साथ पर्यावण का कितना नुकसान पहुंचा रहें है।

गुरविंदर कौर के साथ तरन घई (ईकोशी एम्बेसडर करनाल), मनमीत कौर (ईकोशी एम्बेसडर हेल्थ एंड नुट्रिशन) ने डिस्पोसब्ले सैनिटरी पैड के बदले में फिर से उपयोग करने वाले दो पैड के बारे में बताया। पहला जिसे हम क्लॉथ पैड कहतें है और दूसरा साफकिन। जिसके उपयोग से हम खुद के साथ साथ पर्यावरण के नुकसान की काम कर सकतें है . क्योंकि ये पेड 85 प्रतिशत गलने योग्य है।

इसके साथ साथ ईकोशी टीम करनाल ने वह उपस्थित छात्राओं को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के बारें में भी बताया और साथ ही स्कूल परिसर में कुछ पौधे भी लगाये गए जिससे सैनेटरी पैड से होने वाले नुकसान से पर्यावण को बचा सके।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.