करनाल ब्राह्मण सभा ने बुधवार को मुख्यमंत्री और हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन का जिला सचिवालय चौंक पर फूूंका पुतला

0
Advertisement

ब्राह्मण समाज का अपमान करने के विरोध में जिला करनाल ब्राह्मण सभा ने बुधवार को मुख्यमंत्री और हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन का पुतला जिला सचिवालय चौंक पर फूूंका। ब्राह्मणों में इस बात को लेकर भारी गुस्सा है कि सीएम उनकी सुनवाई नहीं कर रहे और चेयरमैन तथा अन्य अधिकारियों को बर्खास्त नहीं किया गया।

जिला करनाल ब्राह्मण सभा के प्रधान सुरेंद्र शर्मा बड़ौता की अगुवाई में ब्राह्मण समाज के वरिष्ठ व युवा लोग ब्राह्मण धर्मशाला में एकत्रित हुए। यहां से प्रदर्शन करते हुए जिला सचिवालय की ओर कूच कर गए। मुख्यमंत्री और चेयरमैन के खिलाफ जमकर नारे लगाए गए।

Advertisement


सचिवालय चौक पर सीएम के पुतले को आग के हवाले कर दिया गया। बाद में एसडीएम को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया। इस मौके पर प्रधान सुरेंद्र शर्मा बड़ौता ने कहा कि हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा 10 अप्रैल को जूनियर सिविल इंजीनियर पद के लिए करवाई गई परीक्षा में ब्राह्मणों के प्रति आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग किया गया।

रोषजदा ब्राह्मण कई बार आयोग के चेयरमैन भारत भूषण भारती और संबंधित अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर चुके हैं। मुख्य मांग यही है कि चेयरमैन और अधिकारियों को बर्खास्त करके उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए। मुख्यमंत्री ब्राह्मण समाज की अनेदखी कर रहे हैं।

ब्राह्मण समाज का अपमान हुआ मगर मुख्यमंत्री चुप हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की नीयत में खोट नजर आ रहा है, इसलिए कार्रवाई नहीं की गई। आज के प्रदर्शन के बाद भी सरकार नहीं जागती तो पूरे प्रदेश में जिलावार प्रदर्शन किए जाएंगे।

इस अवसर पर संयोजक प्रो. बालकृष्ण कौशिक, उपाध्यक्ष बृजभूषण कोयर, राहुल बाली एडवोकेट, पूर्व प्रधान सुखदेव शर्मा, ब्रह्मदत्त कौशिक, सतप्रकाश निसिंग, कैलाश शर्मा कुचपुरा, सुभाष शर्मा बसंत विहार, विजेंद्र राहड़ा, राकेश शर्मा, रामप्रकाश, रिंकू नड़ाना, टैगोर नाथ अवस्थी, शुभम कालिया, अभिषेक सिरसी, विक्की पनौड़ी, तिलकराज, पूर्व सरपंच बबली बीजणा, रोशन समालखा, रविंद्र पंच, महेंद्र सांभली, राममेहर, जगदीश पटवारी, सचिन बल्ला  व मुकेश मूनक आदि सैकड़ों लोग मौजूद रहे।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.