Advertisement


हरियाणा के खाद्य,नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री कर्णदेव काम्बोज ने कहा कि घुमंतु समाज के व्यक्ति,जिनके पास अब तक मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड व राशन कार्ड नहीं है,उनकी सुविधा के लिए जल्दी ही विशेष कैम्प लगाए जाएंगे ताकि इस वर्ग को भी सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का ज्यादा से ज्यादा लाभ मिले। मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा हाल ही में राज्य स्तरीय स्वर्ण जयंती समारोह विमुक्ति दिवस समारोह फतेहाबाद में विमुक्त, घुमंतु,अर्ध घुमंतु,टपरीवास समुदाय के लोगों के उत्थान एवं विकास के लिए जो घोषणाएं की गई है,वे सभी स्वागत के योग्य है और इन सभी घोषणाओं से निसंदेह इस समाज के लोगों को सीधा लाभ पहुंचेगा।
उन्होंने यह भी बताया कि घुमंतु समाज के लोग अब एलपीजी कनेक्शन के लिए आवेदन कर सकेंगे जिसकी फीस सरकार जमा कराएगी। यह घोषणा मुख्यमंत्री के उदारवादी नेतृत्व की परिचायक है। इसी प्रकार तीन महीने में जातिगत जनगणना के आधार पर कल्याणकारी योजनाएं बनाएं जाने का प्रावधान है, जिनमें घुमंतु समाज के परिवारों को प्राथमिकता दी जाएगी। इन घोषणाओं के फलस्वरूप घुमंतु समाज स्थायित्व की ओर अग्रसर होगा। उन्होंने कहा कि घुमंतु समाज के महापुरूषों के नाम पर सडक़, चौक एवं सामुदायिक भवनों का नामकरण करने की भी मुख्यमंत्री द्वारा घोषणा सराहनीय कदम है। यह घोषणा भी घुमंतु समाज के लोगों को समाज की मुख्य धारा में शामिल करने की दिशा में कारगर साबित होगी। इसके लिए विमुक्त, घुमंतु विकास बोर्ड अपना अनुरोध सरकार को भेजेगा। हरियाणा विमुक्त, घुमंतु, अर्ध घुमंतु एवं टपरीवास जाति मामलें की सलाहकार समिति की रिपोर्ट की सिफारिशों पर सरकार अमल करेगी।
मंत्री काम्बोज ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में वर्तमान सरकार सबका साथ सबका विकास के लक्ष्य को लेकर निरंतर आगे बढ़ते हुए प्रदेश के हर वर्ग के कल्याण के लिए नई-नई योजनाएं लागू की जा रही है। उन्होंने कहा कि घुमन्तु समाज के खुले आसमान में रहने वाले करीब 10 हजार परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास उपलब्ध करवाए जाएगें। इसके अलावा राजीव जैन कमेटी की रिपोर्ट अनुसार जोगीजंगम, रहबारी, मनियार, भाट व बंजारां जातियां भी टपरीवास जाति में शामिल होगी, यह एक बडी बात है। इसी प्रकार घुमंतु समाज के युवाओं की उच्च शिक्षा के लिए जींद, हिसार, करनाल व फतेहाबाद में छात्रावास बनाए जाने तथा बाकी जिलों में एससी/बीसी विद्यार्थियों के लिए बने छात्रावास में 25 प्रतिशत सीटें विमुक्त और घुमंतु जाति के लिए आरक्षित करने की घोषणा घुमंतु जाति के भविष्य को सुरक्षित व संरक्षित करने की दिशा में अहम घोषणा है। इसके अलावा सरकार द्वारा तहसील स्तर पर अंतोदय अधिकारी की नियुक्ति की जाएगी,जो मेधावी प्री मेट्रिक,पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति योजना,अन्तर्जातीय विवाह योजना,कन्यादान योजना तथा सिलाई प्रशिक्षण सहित विभिन्न सामाजिक समरसता योजनाओं का लाभ दिलाकर सामाजिक संरक्षण सुनिश्चित किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.