भारतीय डेरी उद्योग में डा. कुरियन के योगदान को हमेशा याद किया जाएगा : डा. आरआरबी सिंह

0
Advertisement

करनाल। श्वेत क्रांति के जनक डा. वरगीस कुरियन की 97वीं जयंती के उपलक्ष्य में अमूल की ओर से निकाली जा रही बाइक रैली का एनडीआरआई में स्वागत किया गया। गत 17 नवंबर से जम्मू कश्मीर से शुरू हुई यह बाइक रैली पंजाब, चंडीगढ़, हरियाणा, दिल्ली व राजस्थान के विभिन्न हिस्सों से गुजरती हुई 26 नंवबर को आनंद गुजरात पहुंचेगी। जहां पर डा. वरगीस कुरियन की जयंती पर उन्हेें श्रद्धांजलि दी जाएगी। रैली में 35 बाइकर्स शामिल हैं, जोकि भारतीय डेरी उद्योग में डा. कुरियन के योगदान के बारे में युवाओं को जागरूक कर रहे हैं।

राष्ट्रीय डेरी अनुसंधान संस्थान के निदेशक डा. आरआरबी सिंह की अध्यक्षता में सभी वैज्ञानिकों एवं विद्यार्थियों ने ढोल नगाड़ों के साथ बाइक रैली का स्वागत किया। डा. आरआरबी सिंह ने कहा कि डा. वरगीस कुरियन को भारत के मिल्कमैन रूप जाना जाता है। 26 नवंबर को उनकी याद में राष्ट्रीय दुग्ध दिवस मनाया जाता है। उन्हीं के प्रयासों की बदौलत आज हिन्दुस्तान 165 मिमियन टन दूध उत्पादन करके विश्व में प्रथम स्थान पर है। डा. कुरियन ने दुग्ध सहकारिता क्षेत्र को भी बढावा दिया है। जिसकी मिसाल अमूल है। डा. सिंह ने कहा कि भारतीय डेरी उद्योग में डा. कुरियन के योगदान को हमेशा याद किया जाएगा।

Advertisement


अमूल के प्रतिनिधि रोहन जैन ने बताया कि डा. वरगीस कुरियन की याद में यह दूसरी बाइक रैली निकाली जा रही है। डा. कुरियन एक वैश्विक स्तर पर सम्मानित व्यक्ति थे। उन्होंने हमेशा नई पीढी के लिए एक मार्गदर्शक का काम किया है। उन्होंने डेरी सेक्टर के क्षेत्र में उनके द्वारा किए गए सराहनीय कार्यो एवं समर्पण को लगातार जारी रखने की जरूरत है। इसलिए उनके जम्मदिवस पर यह बाइक रैली निकाली गई है।

इस मौके पर डा. एके सिंह, डा. संकेत बोरड, डा. हिना शर्मा, स्टूडेंट काउंसिल की प्रधान शिवानी, सांस्कृतिक सचिव शशांक सहित अन्य वैज्ञानिक एवं विद्यार्थीगण मौजूद रहे।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.