26 अप्रैल की रात को इंद्री के भादसों गाँव में डी सी और एस पी लगाएंगे खुला दरबार।

0
Advertisement

शेयर करें।
  • 395
  •  
  •  
  •  
  •  
    395
    Shares

प्रशासन और जनता के बीच की दूरी समाप्त करके लोगों के घर द्वार पर ही उनकी समस्याओं का समाधान करने के मकसद से अब ग्रामीण क्षेत्रों में रात्रि दरबार आयोजित किये जाएंगे। एक और सुधार की सोच को लेकर सरकार के इस निर्णय से विश्वास जताया जा रहा है कि इससे ग्रामीण विकास को बल मिलेगा तथा प्रशासन व सरकार के प्रति उनका विश्वास और अधिक पुख्ता होगा।

मंगलवार को लघु सचिवालय में आयोजित एक बैठक में इस कार्यक्रम को लेकर उपायुक्त ने विभिन्न अधिकारियों के साथ चर्चा कर इसकी रूप रेखा तैयार की। जिला पुलिस अधीक्षक जे.एस रंधावा के अतिरिक्त एसडीएम इंद्री प्रदीप कौशिक, नगराधीश ईशा काम्बोज,डीडीपीओ कुलभूषण बंसल, डीआरओ राजबीर धीमान तथा बीडीपीओ इंद्री भी उपस्थित थे।

Advertisement

चर्चा के दौरान उपायुक्त ने बताया कि रात्रि खुला दरबार की शुरूआत इंद्री खंड से की जाएगी। इसके तहत आगामी 26 अप्रैल को वीरवार के दिन इस खंड के गांव भादसों में रात्रि दरबार लगाया जाना प्रस्तावित है। उन्होंने बताया कि इसमें उपायुक्त ,पुलिस अधीक्षक और करीब सभी विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहेंगे। कार्यक्रम का आयोजन ग्राम सचिवालय या विद्यालय जैसी कॉमन जगह पर किया जाएगा। संबंधित एसडीएम व बीडीपीओ दोपहर बाद 2 बजे गांव में पहुंचकर तैयारियां प्रारम्भ करवाएंगे।

भिन्न-भिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारी भी दरबार में जाकर अपनी-अपनी टेबल लगाएंगे और जनता की व्यक्तिगत शिकायतें प्राप्त करेंगे। करीब 5 बजे उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक गांव पहुंचकर एक राउंड लेंगे,इससे गांव की समस्याएं, बहबूदी और वहां क्या-क्या सुधार किये जा सकते है,इन चीजों का जायजा लेंगे। फिर एक मंच से गांव के सरपंच मांगपत्र पढ़ेंगे।

पब्लिक डीलिंग व सरकारी स्कीमों से जुड़े महकमों के अधिकारी अपने-अपने विभाग से संबंधित स्कीमों की जानकारी एकत्रित जनता को देंगे। इस दौरान एक और सुधार कार्यक्रम से जुड़ी वीडियो व अन्य सामाजिक विषयों की वीडियो पर्दे पर दिखाई जाती रहेगी ताकि ग्रामीणों का मनोरंजन भी होता रहे।

उपायुक्त ने बताया कि इसके पश्चात मंच से ही ग्रामीणों की सामुहिक समस्याएं सुनी जाएगी। उन्होंने बताया कि रात्रि दरबार से एक-दो दिन पहले संबंधित गांव में एक शिकायत बॉक्स किसी कॉमन जगह पर लगाया जाएगा। पंचायत या ग्रामीण अपने गांव या एरिया से संबंधित जुर्म, नशा,अवैध शराब की बिक्री या छेडक़ानी जैसी शिकायतें इसमें डाल सकते है,शिकायतकर्ता का नाम गुप्त रखा जाएगा।

उपायुक्त का कहना था कि इससे इस तरह की बुराईयों का समाधान किया जाएगा और काफी हद तक अंकुश लगेगा। उन्होंने बताया कि दरबार में सीएम विंडो का डेस्क भी लगेगा। विभिन्न विभागों के डेस्क के साथ-साथ समाज कल्याण विभाग पेंशन आपके द्वार का फलेक्स लगवाकर मौके पर ही पेंशन स्वीकृत करेंगे। इंतकाल का काउंटर भी लगेगा। बिजली विभाग से संबंधित शिकायतों का भी निवारण होगा।

उपायुक्त ने यह भी बताया कि रात्रि खुला दरबार के अगले दिन प्रात: इसी गांव में स्वच्छ भारत मिशन के तहत, अतिरिक्त उपायुक्त की अध्यक्षता में सफाई अभियान चलाया जाएगा।


शेयर करें।
  • 395
  •  
  •  
  •  
  •  
    395
    Shares
Advertisement




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.