ऐसे बनती है सी एम सिटी करनाल की सड़कें, सेक्टर 16 के लोग बोले, बरसात रुक जाने दो इतनी भी जल्दी नहीं हमें

0
Advertisement

शेयर करें।
  • 1.3K
  •  
  •  
  •  
  •  
    1.3K
    Shares

शहर में मंगलवार को 12 एमएम बरसात हुई इसी में एचएसवीपी (हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण) का ठेकेदार सड़क निर्माण करने के काम में जुटा हुआ था। लोगों ने उस पर ऐतराज किया, इस पर ठेकेदार के वर्कर्स ने कहा, उन्हें काम निपटाना है। अब बरसात हो गई तो हम क्या करें? इधर सेक्टर-16 के निवासियों ने बताया कि एक दशक बाद तो मुश्किल से सड़क बनी, लेकिन यह तो बनने से पहले ही टूटना शुरू हो जाएगी। उन्होंने बताया कि दोपहर तीन बजे जब बरसात हो रही थी, तब यहां सड़क बनाने का काम चल रहा था। बरसात में तो अच्छी भली सड़के टूट जाती है, यह नवनिर्मित सड़क कैसे टिकेगी? इस सेक्टर में 40 लाख रुपये की लागत से 18-18 मीटर की दो सड़क बननी है।

क्षेत्रवासी बोले : यहीं वजह है सड़क बनने से पहले टूट जाती है
सेक्टरवासी अशोक, सुखपाल, राजबीर, डा. नरेश व हरबंस ने बताया कि ठेकेदार और सरकारी अधिकारियों की मिलीभगत से ही सड़क घोटाले हो रहे हैं। शहर में हालात यह है कि सड़क की रिपेयर खत्म होती नहीं कि इधर गड्ढे हो जाते हैं। अब समझ में आया कि रिपेयर के नाम पर बड़ा घोटाला हो रहा है। होना तो यह चाहिए कि जब ठेकेदार सड़क बना रहा तो एचएसवीपी का कोई तकनीकी अधिकारी मौके पर होना चाहिए था। जो यह तय करता कि मौसम सड़क बनने के अनुकूल है या नहीं।

Advertisement

सड़क निर्माण में तापमान बड़ा कारण
सर्दियों में जब तापमान 15 डिग्री से नीचे चला जाता है तो सड़क की रिपेयर नहीं होती। वजह यह है कि तारकोल बजरी की सही से पकड़ नहीं करता। ठंड के मौसम में यदि बहुत ही जरूरी हो तो रेडिमेड मेटिरियल से गड्ढे भरे जाते हैं। जिसकी लागत कम से कम डबल आती है। यूआईईटी कुरुक्षेत्र से सिविल इंजीनियर पास आउट सिद्धार्थ ने बताया कि बरसात में रोड निर्माण नहीं होना चाहिए। क्योंकि पानी के संपर्क में आने के बाद तारकोल की पकड़ नहीं रहती। यहीं वजह है कि गर्म दिनों में ही सड़क बनाने का काम होता है।

निगरानी पर बेलदार, तो ठेकेदार क्यूं न हो पहलवान
नियम है कि जब भी सड़क की रिपेयर होती है, ठेकेदार के काम की निगरानी के लिए प्राधिकरण का सुपरवाइजर या जेई स्तर का कर्मचारी मौके पर होता है। सेक्टर-16 में जो सड़क बन रही, इसकी निगरानी के लिए प्राधिकरण की ओर से बेलदार को नियुक्त कर रखा था। अब बेलदार को सड़क निर्माण का क्या पता? सिद्धार्थ ने बताया कि ऐसे में तो ठेकेदार को मनमानी करने का पूरा मौका मिलेगा ही।

जिम्मेदारों के यह है बोल…
ठेकेदार जसबीर बोला, क्या करता माल तैयार था
एचएसवीपी के ठेकेदार जसबीर ने कहा कि सुबह मौसम साफ था। काम चल रहा था। अचानक बरसात हो गई। अब क्योंकि माल तैयार था, इसलिए सड़क पर बिछा दिया है। यदि सड़क टूट गयी तो दोबारा बना देंगे। उसने कहा कि हम सही काम कर रहे हैं।

प्राधिकरण के एक्सइएन धर्मबीर बोले, एक लेयर बिछी है
इधर प्राधिकरण के एक्सएइन धर्मबीर ने बताया कि सड़क की एक लेयर बिछी है। बरसात से यदि कोई नुकसान हो गया तो कोई बात नहीं, दूसरी लेयर में सही कर देंगे। जब तक सड़क को लेकर हम पूरी तरह से आश्वस्त नहीं हो जाते तब तक पैमेंट नहीं करेंगे।


शेयर करें।
  • 1.3K
  •  
  •  
  •  
  •  
    1.3K
    Shares
Advertisement




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.