करनाल पुलिस के हत्थे चढ़े साईकिल सवार से मोबाईल व रूपये छिनने वाले

0
Advertisement

शेयर करें।
  • 2
  •  
  •  
  •  
  •  
    2
    Shares

दिनांक 26.09.18 की रात करीब 10ः00 बजे सै0-04 चैंकी में एक साईकिल सवार लड़के से तीन लड़कों द्वारा सै0-04 ग्रीन बैल्ट के पास मोबाईल व रूपये लुटने की सुचना प्राप्त हुई। सुचना मिलते ही प्रबंधक थाना शहर निरीक्षक मोहन लाल व चैंकी इन्चार्ज ए.एस.आई. अनिल कुमार घटना स्थल पर पहुंच गए। उन्होंने उस स्थान के आसपास गहनता से निरीक्षण किया। पिड़ीत ने बताया कि वह यहां से साईकिल पर जा रहा था, तभी सामने से मोटर साईकिल पर सवार आ रहे तीन लड़कों ने उसके साईकिल के सामने मोटर साईकिल रोक दी और इतने में वह कुछ समझ पाता वे उससे मोबाईल फोन और 2000 रूपये छिनकर मोटर साईकिल पर सवार हो भाग गए।

प्रबंधक थाना ने चैंकी इन्चार्ज ए.एस.आई. अनिल कुमार की अध्यक्षता में एक टीम का गठन कर गहनता से मामले की जांच कर जल्द से जल्द आरोपीयों को गिरफतार करने के आदेष दिए। पुलिस टीम द्वारा मुदई की षिकायत पर थाना शहर करनाल में मुकदमा नं0-1191/27.09.18 धारा 379-बी भा.द.स. के तहत दर्ज किया गया। अनिल कुमार ने अपनी टीम के सदस्यों ए.एस.आई. राजेष कुमार व सी-1 मनोज कुमार के साथ मुदई के बताए अनुसार अपनी जांच को आगे बढ़ाया।

Advertisement

अपनी छानबीन और जांच के आधाार पर पुलिस टीम ने दिनांक 29.09.18 की शाम को नमस्ते चैंक करनाल के पास से शक के आधार पर मोटर साईकिल सवार तीन लड़कों को गिरफतार किया। जिन्होंने पूछताछ के दौरान दो दिन पहले रात के समय एक साईकिल सवार लड़के से फोन व रूपये छिनने की वारदात कबुल की। पुलिस टीम द्वारा आरोपीयों के साथ सख्ती से पूछताछ करते हुए उनके कब्जा से वारदात के समय मुदई से छिना गया मोबाईल फोन, 2000 रूपये और वारदात के समय प्रयोग की गई मोटर साईकिल बरामद की गई।

पुलिस टीम द्वारा आज दिनांक 30.09.18 को तीनों आरोपीयों अनिल उर्फ संटी पुत्र जोगिन्द्र सिंह वासी खेड़ा कालोनी करनाल, संदीप उर्फ सन्नी पुत्र गुलाब सिंह वासी शामनगर करनाल और चरणदास पुत्र कृष्ण लाल वासी शामनगर करनाल को अदालत के सामने पेषकर अदालत के आदेष अनुसार जिला जेल करनाल भेज दिया गया।


शेयर करें।
  • 2
  •  
  •  
  •  
  •  
    2
    Shares
Advertisement




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.