करनाल पुलिस ने दो दिन में सुलझाई ब्लाइंड मर्डर की गुत्थी, पांच आरोपी गिरफतार

0
Advertisement


शेयर करें।
  • 1.9K
  •  
  •  
  •  
  •  
    1.9K
    Shares

सेक्टर-6 में बरात में आए राजमिस्त्री गोविंद साहनी की चाकू गोदकर हत्या के पांच आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सभी आरोपियों को पुलिस ने कोर्ट में पेश कर एक दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया है, ताक‌ि आरोपियों से वारदात में प्रयोग हुआ चाकू व कार बरामद की जा सके।

Advertisement


आरोपियों ने शादी में हुई बेइज्जती का बदला लेने के लिए गोविंद्र साहनी की हत्या की। सिविल लाइन थाना प्रभारी मोहन लाल ने बताया क‌ि 26 अप्रैल की रात को उन्हें सूचना मिली थी कि एक अज्ञात व्यक्ति का शव सेक्टर-6 जीवो मंगलम के समीप पड़ा है।

सूचना मिलते वह टीम के साथ मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर मामले की जांच के लिए सेक्टर-6 चौकी प्रभारी एएसआई नरेंद्र स‌िंह की अध्यक्षता में एक टीम का गठन किया। चौकी प्रभारी ने इस मामले की गहनता से जांच की तो मृतक की पहचान कर्ण विहार निवासी गोव‌िंद साहनी केे रूप में हुई, जो उस दी अपने दोस्त फूलचंद के बेटे की बरात में शामिल होने के लिए आया था।

इस मामले में परिजनों से बात की तो पता चला की शादी में सुबह के समय फूलचंद के दामाद विक्की व प्रवीन ने शराब पीकर एक व्यक्ति के साथ मारपीट की थी तो गोविंद साहनी ने उसका बीच बचाव किया था। इस लिए विक्की ने गोविंद के साथ भी मारपीट की तो फूलचंद ने उसे घर से जाने के लिए कह दिया था, जिसका बदला लेने के लिए विक्की ने गोव‌िंद साहनी को धमकी दी थी।

यह जानकारी मिलते ही चौकी प्रभारी ने मुख्य आरोपी ‌हकीकत नगर निवासी विक्की, उसके भाई प्रवीन, शिव कॉलोनी वासी मोंटी उर्फ अमन, सन्नी, सुनिल को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपी ने बताया क‌ि वह फूलचंद के भाई व गोविंद साहनी से अपमान का बदला लेना चाहते थे।

इस लिए वह  सब्जी काटने वाला चाकू  लेकर सेक्टर-6 में पहुंचे तो तो गोव‌िंद साहनी उन्हें पहले जीवो मंगलम के समीप ही मिल गया और विक्की ने गोविंद साहनी की छाती में चाकू से कई बार वार किया, जिस कारण उसकी मौत हो गई। फिर वह कार में सवार होकर मौके से फरार हो गए।


शेयर करें।
  • 1.9K
  •  
  •  
  •  
  •  
    1.9K
    Shares
Advertisement






LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.