अनुबंध अनुदेशकों ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

0
Advertisement


शेयर करें।
  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    6
    Shares

राष्ट्रव्यापी हड़ताल में शामिल होते हुए आईटीआई में कार्यरत अनुबंध अनुदेशकों ने भी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सर्व अनुबंध अनुदेशक संघ व हरियाणा राज्य तकनीकी कर्मचारी संघ से जुड़े अनुदेशकों ने आईटीआई परिसर में सरकार के खिलाफ नारे लगाकर रोष जताया।

सर्व अनुबंध अनुदेशक संघ के राज्य प्रधान सतीश न्योल ने कहा कि केंद्र सरकार कौशल भारत कुशल भारत का नारा दे रही मगर हरियाणा सरकार अनुदेशकों के खिलाफ नियमित भर्ती निकाल कर केंद्र सरकार के पैरों पर कुल्हाड़ी मारने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में एक भी ऐसा वर्ग नहीं है जो सरकार की किसी भी पालिसी से खुश हो।

Advertisement


सरकार की जनविरोधी और कर्मचारी विरोधी नीतियां भाजपा को दोबारा सत्ता में आने से रोकने का काम करेंगी। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट ने वर्तमान में कार्यरत अनुबंधित अनुदेशकों के 1025 पदों को भरा हुआ मानकर शेष पदों पर भर्ती प्रक्रिया के आदेश दिए थे मगर सरकार कोर्ट के आदेशों की अवहेलना कर रही है। जिला अध्यक्ष नौशाद सेफी व गौरव शर्मा ने कहा कि सरकारें कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने का काम करती है, लेकिन यह पहली ऐसी सरकार आई है जो पक्के कर्मचारियों को कच्चा कर रही है और कच्चे कर्मचारियों को घर बिठाने का काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि पिछले सात सालों में आईटीआई विभाग में कार्यरत 1274 अनुबंधित अनुदेशकों के पदों को खाली मानकर उनके खिलाफ नियमित भर्ती निकाल दी गई और इसमे अनुबंधित अनुदेशकों को किसी भी प्रकार की वरीयता नहीं दी गई। रोषजदा अनुबंधित अनुदेशकों ने सरकार को चेताया है कि अगर उनकी मांगों को सरकार जल्द मानकर लागू नहीं करती तो कर्मचारियों के परिवार भाजपा को वोट नहीं देंगे।

अनुदेशकों की अनदेखी का खामियाजा सरकार को सत्ता से बाहर होकर भुगतना पड़ेगा। आईटीआई में मीटिंग करने के बाद अनुदेशक सर्व कर्मचारी संघ को समर्थन देने के लिए कर्ण पार्क पहुंचे और प्रदर्शन में शामिल हुए। इस अवसर पर नौशाद सैफी, गौरव शर्मा, सुखविंद्र, गुरमीत, ज्योति, मीनाक्षी, निशा, पंकज मोर, मीना, सुरेंद्र दहिया, रामविलास शर्मा, मलखान, सुशील मढाण, रोहताश, मंदीप, अंकित, सुदेश आदि मौजूद रहे।


शेयर करें।
  • 6
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    6
    Shares
Advertisement













LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.