पर्दे के पीछे जनता को रखकर मुख्यमंत्री खट्टर का खुला दरबार विवादों में

0
Advertisement


शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


बोला बुर्जुग क्या सीएम अब वोट भी जनता को पर्दे के पीछे रखकर ही मांगेगा

कल शुक्रवार को सी एम सिटी करनाल की नई अनाज मंडी में लगा करनाल विधायक व मुख्यमंत्री खट्टर का खुला दरबार बेहद चर्चाओं का विषय बना हुआ है ! खुले दरबार में जनता को पर्दे के पीछे रखना इसका अहम कारण बताया जा रहा है !

Advertisement


बता दें कि करनाल की नई अनाज में लगा जनता का खुला दरबार अद्भुत तरीके से लगा ! शायद इतिहास में ऐसा पहले कभी ही हुआ हो कि जनता को पर्दे के पीछे रखा गया हो ,जिससे लोगों में खासा रोष है , यहां यह भी स्पष्ट है कि पर्दे लगाने यानि जनता को पर्दे के पीछे रखने का कारण कतई सुरक्षा न हो सकती है, क्योंकि पहले तो नाहीं कभी किसी मुख्यमंत्री ने ऐसा किया और नाहीं खुद मुख्यमंत्री खट्टर के हरियाणा भर में लगाये गए खुले दरबारों में !

शैड के नीचे ही अखिर क्यों जनता को पर्दे के पीछे रखना बेहद जरूरी हो गया, यह सब तथ्य कई बड़े सवाल खडे कर रहे हैं , वहीं जबकि खुले दरबार का मतलब ही यह होता है कि जनता अपना दुखड़ा खुल कर रख सके, लेकिन यहां तो मुख्यमंत्री जी व जिला प्रशाशनिक अधिकारियों ने उन्हें ही पर्दे के पीछे रख दिया !

वही खुले दरबार मे आये लोगों का कहना है कि सीएम जनता से क्यों डर रहे है , उन्हें भय सताने लगा है कि इन करीब चार वर्षों मेंं उन्होंनें करनाल के लिए कुछ भी नहीं किया है, लोगों का कहना है कि केवल सभी विकास कार्य कागजों व मीडिया तक ही हुए हैं , यहां तक 500 मीटर की स्मार्ट सड़क भी अभी पूरी तरह से बनकर तैयार नहीं हुई??… इसके अलावा जो भी कार्य हुए हैं, उनमें खानापूर्ति ही पूरी की गई है !

हालाकि कार्यकर्ता और प्रशासनिक अधिकारी इसका कारण सुरक्षा को बता रहे हैं ! खैर कुछ भी हो पर्दे के पीछे रखने से लोगों में गहरा रोष है ! जब इस बारे में हमने पर्दे के पीछे व बाहर खड़े कुछ लोगों से बात की गई तो उन्होंने बताया वह अपनी समस्या लेकर आए थे, लेकिन उन्हें कहा गया कि उनकी समस्या रजिर्स्टड न है , उन्होंने कहा कि यहां तक तो ठीक है, लेकिन उन्हें पर्दे के पीछे क्यों रखा गया, यह गलत है !

वही एक बुजुर्ग व युवा ने कहा कि उन्हें समस्या रजिर्स्टड न होने पर रोक लिया गया, ठीक है, लेकिन पर्दे के पीछे रखा गया यह ठीक न है ! उन्होंने कहा कि आज तक उन्होंने कभी भी नहीं देखा कि खुले दरबार में जनता को पीछे पर्दे के पीछे रखा गया हो ! बुजुर्ग ने कहा कि जब सीएम साहब अब वोट मांगने आएंगे तो क्या तब भी वह जनता को पर्दे के पीछे रखकर वोट मांगेंगे !


शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Advertisement









LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.