एसोसिएशन ऑफ ऑबस्टे्रशियन एंड गायनाकोलोजिस्ट हरियाणा की पहली वार्षिक कांफ्रेंस रविवार को हुई नूर महल में

0
Advertisement

एसोसिएशन ऑफ ऑबस्टे्रशियन एंड गायनाकोलोजिस्ट हरियाणा की पहली वार्षिक कान्फें्रस रविवार को नूर महल में हुई। हरियाणाभर से 250 से ज्यादा महिला डाक्टर कान्फ्रेंस में शामिल हुई। सभा के मंच से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ बेटा समझाओ का नारा दिया गया। एसोसिएशन के कानूनी सलाहकारों ने डाक्टरों से कहा कि किसी भी मरीज की उपचार प्रक्रिया के दौरान सभी डाक्यूमेंट पूरे रखें।

डाक्यूमेंट पूरे न होने के कारण कई बार डाक्टरों के वजह झूठे केसों में फंसा दिया जाता है। अगर जांच रिपोर्ट पूरी होगी तो डाक्टर अपना पक्ष खुलकर रख सकते हैं। सभा की अध्यक्षता एसोसिएशन की चेयरपर्सन डा. रागिनी अग्रवाल ने की। एसोसिएशन ने तीन अभियानों अभिलाषा, उड़ान और मुक्ति की शुरूआत की। एसोएिशन की वेबसाइट भी लांच की गई। इस मौके पर डा. रागिनी अग्रवाल ने कहा कि डाक्टर मरीज के साथ कम्यूनीकेशन सहीं रखें।

Advertisement


उन्होंने कहा कि डाक्टर के पास आते समय महिलाओं को विश्वास रखना चाहिए। कई लोग जानबूझ कर डाक्टरों की छवि खराब करने के लिए समाज को गुमराह करने का काम कर रहे हैं। ऐसे लोगों से बचना चाहिए। कानूनी सलाहकारों ने कहा कि मेडिकल रिपोर्ट मरीज की प्रोपर्टी होती है। इसलिए समय पर यह रिपोर्ट मरीज को उपलब्ध करवाई जानी चाहिए और डाक्टर अपने पास इस रिपोर्ट की कॉपी अवश्य रखें। कई वरिष्ठ डाक्टरों ने सुझाव देते हुए ग्रुप पे्रक्टिस की बात कही। डाक्टर्स आपस में टाइअप रखें ताकि किसी भी परिस्थिति में मरीज को परेशानी न हो।

कान्फ्रेंंस में अतिथिगणों के रूप में निर्मला बैरागी, प्रतिभा सुमन, मेयर रेणु बाला गुप्ता, रंजना शर्मा व रेश्मा कल्याण ने शिरकत की। उन्होंने एसोसिएशन की पहली कान्फें्रस पर शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर निफा के गो ग्रीन अभिया के तहत महिला डाक्टरों को लगभग 300 पौधे भेंट किए गए। प्रवेश गाबा और राजीव मल्होत्रा ने कहा कि गो ग्रीन अभियान के तहत हजारों पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है।

लोगों को पौधें वितरित भी किए जा रहे हैं। इस अवसर पर अध्यक्ष डा. रागिनी अग्रवाल, आर्गेनाइजिंग सचिव डा. मधु चौधरी, आर्गेनाइजिंग सचिव डा. सोनम सचदेवा, वरिष्ठ उपप्रधान डा. विभा दुआ, उपप्रधान डा. निशा कपूर, संयुक्त सचिव डा. कमला भारद्वाज, कोषाध्यक्ष डा. सरोज कुमार, संयुक्त कोषाध्यक्ष डा. वंदना, आर्गेनाजिंग सचिव डा. ज्योति मलिक, डा. रीचा कंसल, डा. ज्योति गुप्ता व डा. प्रभजौत कौर ने अपने विचार रखे।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.