कोरोना वायरस से बचाव के लिए विभिन्न समाचार पत्रों के माध्यम से करनाल प्रशासन ने घर-घर पहुंचाए करीब 21 हजार मास्क ,देखें पूरी खबर

0
Advertisement


करनाल कोरोना वायरस से जंग में जो लोग अपना आराम छोड़ नागरिकों को संक्रमण से बचाने में लगे हुए हैं, उन्हें वार हीरोज़ कहकर सम्मान दिया जा रहा है। देशहित की इस मुहिम में करनाल जिला के प्रशासनिक अधिकारी और कर्मचारी भी पीछे नहीं, जो अपनी-अपनी ड्यूटी को पूरी तनमन्यता और कर्तव्यपरायणता से निभा रहे हैं।

इन्हीं प्रयासों के चलते उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने दैनिक समाचार पत्रों के माध्यम से मास्क के लिफाफे और लॉकडाउन का पालन करने की अपील का एक पत्र पाठकों तक पहुंचाने का काम किया, जिसकी शहर के नागरिकों ने भरपूर सराहना की है।

Advertisement


प्रशासन की ओर से अतिरिक्त उपायुक्त के कार्यालय की टीम ने इस कार्य को सरअंजाम देने में योगदान दिया। छ: कर्मचारियों की टीम ने 13 अप्रैल से लेकर 17 अप्रैल यानि 5 दिन अलसुबह शहर की क्लब मार्किट आने वाले दैनिक समाचार पत्रों के स्थल पर जाकर अपनी उपस्थिति में भिन्न-भिन्न समाचार पत्रों में मास्क के लिफाफे डलवाए।

इस अवधि में 21 हजार से भी ज्यादा लिफाफे लोगों के घरों में पहुंचे। इन लिफाफो में 3 से 4 मास्क डाले गए और 16 दैनिक समाचार पत्रों में लिफाफे डाले गए, ताकि नागरिकों की अपने जरूरी काम से बाहर जाने के लिए मास्क की आवश्यकता को पूरा किया जा सके। प्रत्येक लिफाफे में उपायुक्त की ओर से आम नागरिक को अपील की गई थी कि जरूरत के समय बिना मास्क लगाए घर से बाहर न निकले, इससे कोरोना संक्रमण से बचाव बना रहेगा।

उपायुक्त की अपील और मास्क की जरूरतों से जनता का लॉकडाउन पूर्ण सफल रहा और परिणामस्वरूप पिछले 5 दिनो से जिला में कोरोना का एक भी केस सामने नहीं आया है।

टीम के लीडर सुपरवाईज़र राजीव शर्मा व राज कुमार संधू ने बताया कि उनके साथ उपायुक्त कार्यालय के 4 चुतुर्थ श्रेणी कर्मचारी भी टीम में थे, जिनमें विनय कुमार, घनश्याम, सुशील कुमार तथा कीमती लाल शामिल थे। हम सभी प्रात: साढे 3 बजे अपने घर से उठकर क्लब मार्किट पहुंच जाते थे और फिर अपनी देखरेख में समाचार वितरित करने वाले हॉकरों के अखबारो में एक-एक लिफाफा डलवाते थे।

इसके बाद हॉकर शहर के अलग-अलग भागो में जाकर अखबार वितरित करते थे। उन्होंने बताया कि हॉकरों को स्पष्ट निर्देश थे कि वे मास्क से भरे लिफाफों को पाठकों तक सुरक्षित पहुचांएगे और कोई भी लिफाफा अखबार से छूटकर बाहर ना गिरने पाए। अपील से लोगों पर इतना असर हुआ कि जो भी व्यक्ति अपने काम के लिए घर से बाहर निकला, वह मास्क पहनकर ही निकला।

वायरस से बचने के लिए उपायुक्त की ओर से अपील में लोगों के लिए हैंड वाश व सोशल डिस्टैंसिंग जैसी जरूरी बातें भी बताई गई थी, जिनका लोगों ने पालन किया।






LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.