हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष दादूवाल ने बादल को बताया केबल और ड्रग माफिया, बोले सच्चे दिल से करेंगे गुरुद्वारों की सेवा

0
Advertisement



  • श्री अकाल तख्त की मर्यादा को बादल ने किया धूमिल – दादूवाल
  • अमरेंद्र सिंह अरोड़ा को मिली फिर से प्रदेश युवा इकाई की कमान
  • हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष दादूवाल ने बादल को बताया केबल और ड्रग माफिया, बोले सच्चे दिल से करेंगे गुरुद्वारों की सेवा

हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष बलजीत सिंह दादूवाल ने आज पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पर श्री अकाल तख्त की मान मर्यादा को धूमिल करने का आरोप लगाया लगाते हुए कहा कि बादल परिवार ने पंजाब और हरियाणा में गुरुद्वारों के लिए अलग-अलग राजनीति की और हरियाणा में सिख पंथ को बेच डाला।

उन्होंने कहा कि बादल परिवार ने हरियाणा के गुरुद्वारों में मौजूद केवल गुल्लकों पर कब्जा जमाने का काम किया और हरियाणा सिख समुदाय की बाजुओं को परे झटक दिया। वह आज सीएम सिटी करनाल में अपने सम्मान में आयोजित समागम को संबोधित कर रहे थे।

Advertisement


इस समागम का आयोजन हरियाणा युवा गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष अमेरेद्र सिंह अरोड़ा ने किया। इससे पहले दादूवाल ने हरियाणा गुरद्वारा प्रबंघक कमेटी की युवा इकाई की कमान अमरेन्द्र सिंह अरोड़ा को सोपने का एलान करते हुए कहा कि अमरेन्द्र सिंह अरोड़ा ही हरियाणा के युवाओं को संगठित करने में सक्षम है। वंहा मौजूद सिख संगत ने अमरेन्द्र सिंह के एलान का जो बोले सो निहाल का जयकार लगा कर स्वागत किया।

हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान बलजीत सिंह दादूवाल ने बादल परिवार को किसान विरोधी बताते हुए कहा कि पंजाब के किसानों के लिए पूर्व की सरकार ने कुछ नहीं किया और संसद में पहुंची केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल का इस्तीफा महज़ एक ड्रामे की तरह है। क्योंकि उन्होंने दिल्ली और पंजाब में अलग-अलग राजनीति की।

जव संसद में यह विधेयक लाया जा रहा था तब हरसिमरत कौर बादल व अकाली दल के सांसद हां में हां मिला रहे थे तब बादल परिवार कहां चला गया था। उन्होंने बादल परिवार को केबल और ड्रग माफिया करार देतेेे हुए कहा इसी परिवार ने सिख पंथ की पीठ में छुरा घोपने का काम किया है ।

उन्होंने कहा कि अकाल तख्त सबसे ऊंचा पन्थ है। मगर सियासी लोगों ने अपने स्वार्थ के लिए अब इन गुरुद्वारों पर कब्जा जमाया हुआ है। सेवा की भावना छोड़ कब्जे की भावना अपना रखी है। सिख पंथ की मर्यादाओं का मलियामेट कर दिया है।

उन्होंने कहा कि हरियाणा गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी सबका साथ सबका विकास नारे के साथ चलेगी। वह सबको साथ लेकर चलना चाहते हैं भले ही उनके विरोधी उनके खिलाफ बयानबाजी करते रहे मगर वह सब का साथ चाहते हैं । उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि हरियाणा के समूचे सिख समुदाय को जागरुक कर साथ लेकर चलना होगा। दादूवाल ने कहा कि हम सच्चे दिल से न केवल गुरुद्वारों की सेवा करेंगे बल्कि सिख धर्म का पूरे विश्व में प्रचार करेंगे।

दादूवाल ने कहा कि हम उन सिखों के वंशज हैं जिन्होंने देश, समाज और धर्म के लिए खुद को कुर्बान कर दिया। आज भी देश में जब भी बड़ी आपदा आती है तो देश का सिक्ख समाज मानवता और लोगों की सेवा के लिए घरों से निकल पड़ता है। उन्होंने कहा कि सिख धर्म में राजनीति का कोई स्थान नहीं है। हरियाणा गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी 2014 में अस्तित्व में आई थी।

प्रबंधन कमेटी में चौधर या राजनीति नहीं घुसनी चाहिए। लेकिन राजनीति से हमेशा हरियाणा के सिखों का नुकसान होता आया है। हरियाणा गुरुद्वारा कमेटी सभी समुदाय के लोगों की भावनाओं का आदर सत्कार करती है और समूचे समाज को मजबूत बनाने का काम भी करेगी। उन्होंने कहा कि बादल परिवार ने तो गुरु के स्वरूपों को भी लुप्त करवा डाला। जब से शिरोमणि कमेटी बादल परिवार के संपर्क में आई है तब से सुधार ही समाप्त हो गया है।

दादूवाल ने कहा कि जल्द ही एक कैलेंडर जारी करेगी। इसके अलावा हरियाणा में श्री गुरु ग्रंथ साहिब प्रचार सत्कार कमेटी का भी गठन होगा। इस से पहले हरियाणा गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की युवा इकाई के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष अमरेंद्र सिंह अरोड़ा ने उन्हें सरोपा भेंट कर उनका अभिनंदन किया।

इस अवसर पर नगर परिषद के पूर्व प्रधान बलविंदर सिंह कालडा, बलविंदर सिंह डाचर, ध्यान सिंह लुखी पेहवा, गुरमेल सिंह, गुरविंदर सिंह, जरनैल सिंह , अमृतपाल सिंह, जसप्रीत सिंह, हरविंदर सिंह अरोड़ा, जगजीत सिंह, यादविंदर सिंह, पलविंदर सिंह बेदी, पलविंदर सिंह, गुरुदेव सिंह पीपली, सुरजीत सिंह दरड़, भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष सेवा सिंह आर्य, संजय बत्रा, परमजीत सिंह अरोड़ा अलावा काफी संख्या में सिख समुदाय के लोग मौजूद रहे





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.