15 सितम्बर से 17 सितम्बर तक चलेगा सब-नैंशनल पल्स पोलियो अभियान, 2,01,843 बच्चों को पिलाई जाएगी दवा।

0
Advertisement

स्वास्थ्य विभाग की ओर से सब-नैंशनल पल्स पोलियो प्रोग्राम के सफल आयोजन के लिए जिला टास्क फोर्स की मिटिंग का आयोजन लघुसचिवालय के सभागार में अतिरिक्त उपायुक्त अनीश यादव की अध्यक्षता में किया गया। इस मिटिंग में सिविल सर्जन डॉ0 रमेश कुमार, सभी उप सिविल सर्जन, वरिष्टï चिकित्सा अधिकारी व अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि पल्स पोलियो प्रोग्राम के तहत 0 से 5 साल तक के हर बच्चे को दवा पिलाना सुनिश्चित करें, भ_ïों, डेेरे, फैक्ट्रिरियां, राईस मिल्स, सल्म एरिया, नोमेडस (झुग्गी झोपड़ी) में रह रहे बच्चों को पोलियो पिलवाए, कोई भी बच्चा न छूटे।

Advertisement


उन्होंने महिला एवं बाल विकास विभाग, शिक्षा विभाग तथा इस अभियान से जुड़े अन्य विभागों के अधिकारी अपना पूर्ण सहयोग दें, कहीं पर भी कोई शिकायत न आने दें।

इस अवसर पर सिविल सर्जन डॉ0 रमेश कुमार ने बताया कि हरियाणा प्रदेश के 13 जिलो में 15 सितम्बर से 17 सितम्बर तक सब-नैंशनल पल्स पोलियो अभियान किया जाएगा। जिला में 0 से 5 साल तक के 2,01,843 बच्चों को दवाई पिलाने के लिए 844 बूथ और 1495 घर-से-घर जाने वाली टीमे बनाई गई है।

जिनकी निगरानी 151 सुपरवाईजर द्वारा की जाएगी। इसके अलावा 72 मोबाईल टीमों जिसमे 54 ट्रंाजिन्ट टीमें तथा कुल 3396 कर्मचारी व अधिकारी इस कार्य में भाग लेगें। इसके लिए सारी तैयारियां हो चुकी है।

उन्होंने बताया कि हरियाणा मे जनवरी 2010 से कोई पोलियो केस नही हुआ है और भारतवर्ष में जनवरी 2011 से पोलियो का कोई केस नही मिला है। इसलिए भारतवर्ष 11 फरवरी 2014 को पोलियो मुफ्त घोषित कर दिया गया है। अब की बार जिले के हाई रिस्क एरिया जैसा कि भ_ïों, डेेरे, फैक्ट्रिरियां, राईस मिल्स, सल्म एरिया, नोमेडस (झुग्गी झोपड़ी) में रह रहे बच्चों को पोलियो की बूंदें पिलाने पर ज्यादा जोर दिया जाएगा क्योकि ऐसी जगह पर माईग्रेटरी पोपुलेशन होती है। जहां पर पोलियो फैलाने का खतारा सबसे अधिक होता है। वर्ष 2010 में हरियाणा का तथा वर्ष 2011 में भारत वर्ष का आखिरी पोलियो केस भी माईग्रेशन पापुलेशन का ही था।

सिविल सर्जन ने बताया कि सभी रेलवे स्टेशनों व बस अड्ïडों पर पोलियो बूथ बनाए गए है ताकि बाहर से आने वाले बच्चों को भी पोलियो की बूंदे पिलाई जा सके और हरियाणा को पोलियो मुक्त बरकरार रखा जा सकें। क्योंकि 2011 से भारत मे कोई पोलियो केस नही मिला है।

अत: अब हमने अपने पोलियो निगरानी सिस्टम को और अधिक मजबूत बनाया है ताकि किसी अन्य देश से कोई भी पोलियो केस भारत मे न आ सके। उन्होंने सभी जिला वासियों से अनुरोध है कि सभी अपने 0 से 5 साल के बच्चों को 15 सितम्बर 2019, रविवार को नजदीकी बूथ पर पहुँचकर पोलियो की बूंदे अवश्य पिलवाएं।

बैठक में जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी राजपाल चौधरी, जिला कार्यक्रम अधिकारी राजबाला, रोटरी कल्ब, ईटं भट्ïठा एसोशिएसन के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Advertisement


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.