सरकार से अनुमति लेने के बाद मॉडल टाऊन की सड़क का नवीनीकरण कार्य हुआ शुरू, 50 लाख रूपये की आएगी लागत- महापौर रेणु बाला गुप्ता।

0
Advertisement



नागरिकों की कठिनाई और मांग को देखते हुए सरकार से अनुमति लेने के बाद पहले से शुरू मुख्य सड़कों के निर्माण कार्य को एक-एक कर शुरू करवाया जा रहा है, ताकि नागरिकों की आवाजाही शुरू होने से पहले यह कार्य पूरे कर लिए जाएं।

इसी के मद्देनजर गुरूवार को महापौर करनाल रेणु बाला गुप्ता ने वार्ड नम्बर-11 के मॉडल टाऊन क्षेत्र में अनुमानित 49 लाख 87 हजार रूपये की लागत से बनने वाली सड़क के नवीनीकरण के कार्य का मंचोच्चारण के बीच वार्ड पार्षद पति गिन्नी विर्क के हाथों विधिवत नारियल फुड़वाकर शुभारम्भ करवाया।

Advertisement


इस अवसर पर एक्सईएन अक्षय भारद्वाज, एई सतीश कुमार मित्तल, जेई सुशील शर्मा तथा गुरिन्द्र सिंह धमीजा मौजूद रहे।

नवीनीकरण के कार्य का शुभारम्भ होते ही वहां मौजूद मिलिंग मशीन ने अपना कार्य शुरू कर दिया। मेयर ने बताया कि इस कार्य में सिविल अस्पताल चौक से टी-प्वाईंट मॉडल टाऊन तक की सड़क का नवीनीकरण किया जाएगा और इसकी कुल लम्बाई लगभग 800 मीटर है। उन्होंने बताया कि लगभग 15 दिनो में सड़क का कार्य पूरा कर लिया जाएगा। इस कार्य के पश्चात सड़क के साथ-साथ ब्रम पर लगी टाईलों को उखाड़ कर, उसकी लेवलिंग करवाई जाएगी तथा उन्हें फिर से वहीं लगा दिया जाएगा।

मेयर ने बताया कि मिलिंग मशीन पहले सड़क को निश्चित गहराई तक खोदेगी, उसके बाद इसमें नया तारकोल मैटीरियल डाला जाएगा। इससे मजबूत सड़क बनकर तैयार होगी और सौंदर्यकरण में इजाफा होगा। उन्होंने मौके पर मौजूद अधिकारियों को निर्देश दिए कि कार्य निश्चित समयावधि में पूरा करवाया जाए।

मौके पर मौजूद कार्यकारी अभियंता अक्षय भारद्वाज ने जानकारी देते हुए बताया कि पहले सड़क की 75 एम.एम. तक खुदाई की जाएगी, उसके बाद इस पर बिटूमिन मैकेडम (बीएम) की 50 एम.एम. मोटाई की पहली परत बिछाई जाएगी, जो सड़क को मजबूती प्रदान करेगी। इसके बाद 30 एम.एम. बिटुमिनस कंक्रीट (बीसी) की दूसरी परत डाली जाएगी, जो सड़क को अंतिम रूप देगी।

इन दोनो परतों के डलने से सड़क की गुणवत्ता में इजाफा होगा और सड़क का लेवल भी बराबर रहेगा। मेयर रेणु बाला गुप्ता ने कहा कि एहतियात के तौर पर सड़कों के सामान्य कार्य शुरू होने की उम्मीद नहीं है, यह हालात पर निर्भर करेगा।

उन्होंने कहा कि हालात में अगर कुछ-कुछ सुधार हुआ तो, ग्रीन जोन वाले क्षेत्रों में सरकार से परमिशन के लिए अप्लाई किया जा सकता है, अगर अनुमति मिलती है तो काम आगे शुरू होंगे अन्यथा सरकार की गाईडलाईन पर ही निर्भर रहना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि जिन जिलो में छूट दी गई थी, वहां कुछ नए केस सामने आए हैं, इसलिए हमें संयम बरतना होगा। मेयर ने नागरिकों से भी अपील की कि लॉकडाउन का पालन करें, अपने घरों में रहें, अति आवश्यक कार्य होने पर ही घर से बाहर निकलें।

Advertisement



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.