बिना पैसे बिना सिफारिश के 5000 युवाओं की पुलिस में हुई भर्ती – योग्य उम्मीदवारों के घरों में हुआ प्रकाश

0
Advertisement


शेयर करें।
  • 110
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    110
    Shares

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बिना पर्ची, बिना सिफारिश योग्यता के आधार पर पुलिस में सिपाहियों की भर्ती करके गरीबों के घरों में प्रकाश लाने का काम किया है। ऐसा हरियाणा के इतिहास में कभी नहीं हुआ, ऐसे-ऐसे युवा भर्ती में शामिल हुए,जिनके पास ना तो सिफरिश थी और ना ही पैसे थे, परन्तु योग्यता थी।

परिणाम देखते हुए उनके चेहरे खिल गए। हरियाणा सरकार द्वारा पुलिस में चयनित हुए युवाओं को पुलिस अकादमी मधुबन के स्टेडियम में सभी को एकसाथ करके उन्हें डॉक्टरी करवाने के लिए यूनिट में भेजने के समय एक बातचीत में चयनित युवाओं में से करनाल जिले के गांव बल्ला वासी हरविन्द्र ने बताया कि वह नौकरी के इंतजार में थक चुके थे, वह पोस्ट ग्रेजुएट है। वह नौकरी की तलाश में कईं वर्षो से फिर रहे थे,परन्तु पेपर पास करने के बाद भी चयन नहीं हो रहा था, अचानक जब पुलिस का रिजल्ट देखा तो उनका नाम लिस्ट में था।

Advertisement


इससे सिद्ध हो गया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भर्ती में पर्ची व पैसे नहीं चलने दिये और पारदर्शिता से भर्ती हुई। इतना ही नहीं उनके घर में कोई नौकरी नहीं होने के कारण उन्हें सरकार की योजना के कारण 10 नम्बर भी मिले। इसके लिए उन्होंने कहा कि मेरा सारा परिवार मुख्यमंत्री का आभारी है।

इसी प्रकार रोहतक के मायना गांव के रहने वाले एक अन्य चयनित युवा सुमित ने बताया कि वह बीए पास है। उन्होंने सोचा भी नहीं था कि उन्हें बिना सिफारिश के पुलिस में भर्ती होने का मौका मिलेगा। इससे पहले केवल पैसे व सिफारिश चलती थी, परन्तु उन्हे केवल फार्म के पैसे खर्च कर इस भर्ती में सफलता मिली है।

उन्होंने इस नेक कार्य के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल का धन्यवाद किया है। रेवाड़ी जिले के लिसान गांव के रहने वाले कपिल यादव ने बताया कि वह भी स्नात्तक है और कईं प्रयास करने के बाद बिना कोई पैसा दिये उनका इस भर्ती में चयन हुआ है। कपिल ने हरियाणा सरकार का धन्यवाद करते हुए कहा कि इस भर्ती में सफल होने के साथ अब मेरा भी विवाह हो जाएगा।

जींद के नरवाना में रहने वाले एक अन्य चयनित युवा अजय विरमोर ने बताया कि वह बीएससी पास है और एमएससी कर रहा है। कईं भर्तियों में प्रयास करने के बाद हरियाणा सरकार की इस भर्ती में सफल हुआ है,जिसके लिए वह मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा लिये गए उदारवादी निर्णयों के लिए धन्यवाद करता है और कहता है कि परिवार में पहले किसी के पास सरकारी नौकरी ना होने के कारण मिलने वाले अतिरिक्त नम्बरों के कारण वह सफल हो पाया है।

चयनित उम्मीदवारों के कागजों को परख कर भेजा डॉक्टरी के लिए, की गई विशेष व्यवस्था।

हरियाणा सरकार द्वारा सिपाही की भर्ती की चयनित लिस्ट जारी करते ही विभाग द्वारा आगामी कार्यवाही शुरू कर दी है। चयनित सभी 5 हजार युवाओं को पुलिस अकादमी मधुबन में बुलाया गया, वहां पर अलग-अलग सेंटर बनाकर युवाओं के कागजातों को परखा गया और उन्हें यूनिटों के माध्यम से अलग-अलग जिलों में डाक्टरी जांच के लिए भेजा गया।

एचएपी के डीआईजी कुलविन्द्र सिंह ने बताया कि चयनित युवाओं को किसी प्रकार की दिक्कत ना हो, इसके लिए व्यापक प्रबंध किये गए है। युवाओं के कागजात व मेडिकल में भेजने के लिए मधुबन रंगशाला अकादमी परेड ग्राउंड, हॉकी ग्राउंड, फु टबाल ग्राउंड व जुड़ों ग्राउंड में युवाओं को अलग-अलग एकत्रित किया गया और सभी को उनकी यूनिट में भेज दिया गया। शीघ्र ही आगामी कार्यवाही शुरू हो जाएगी।

चयनित युवाओं को भेजा गया बटालियनों में ।

हरियाणा पुलिस में चयनित 5 हजार युवाओं को पांच बटालियन के अतिरिक्त गुरूग्राम, करनाल, सोनीपत, रोहतक जिलों में भेजा गया है। डीआईजी कुलविन्द्र सिंह ने बताया कि अंबाला सिटी बटालियन, हिसार बटालियन व मधुबन में 2,4 व 5 बटालियन बनाई गई है। मधुबन में बनाई गई बटालियन में अलग-अलग जिलों के चयनित युवाओं को बुलाया जाएगा।


शेयर करें।
  • 110
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    110
    Shares
Advertisement









LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.