Big News – 3 साल पहले मकान बेचने वाले अहसान ने पत्‍नी व दो बच्‍चों को मारकर किया था दफन

0
Advertisement



Live – देखें – Big News – 3 साल पहले मकान बेचने वाले अहसान ने पत्‍नी व दो बच्‍चों को मारकर किया था दफन , गिरफ्तार अहसान ने कबूला कैमरे पर जुर्म , दूसरी पत्नी के लिए पहली को हटाया रास्ते से ,देखें Live – Share Video

पानीपत के बबेल रोड पर खुदाई के दौरान मिले 3 नरकंकाल मामले में हुआ बड़ा खुलासा। कलयुगी पति ही निकला पत्नी व दो बच्चो का हत्यारा। पहले से शादीशुदा था आरोपी अहसान सेफी। शादी डॉटकॉम के सहारे की थी तीन साल पहले दूसरी शादी। पहली शादी में रोड़ा बनते देख मासूम बच्चो व् पत्नी को पहले दूध में मिलाकर पिलाई नींद की ओवरडोज गोलिया उसके बाद कमरे में जलाई अंगीठी। सुबह मोत के बाद घर के अंदर जमीन में गढ़ा खोद दबाया। कुछ समाय बाद मकान बेचकर हुआ फरार। अब फिर शादी डॉटकॉम के सहारे तीसरी शादी कर रह रहा था भदोई। सीआईए की टीम ने किया काबू। लिया दस दिन के रिमांड पर। आगामी जाँच जारी।

Advertisement


पानीपत में घर की मरम्मत के दौरान 3 कंकाल मिलने के राज से 24 घंटे के भीतर ही पर्दा उठ गया है। ये ढाई साल पहले मकान बेचने वाले शख्स की पत्नी और बच्चों थे। उसने तीनों को मारकर यहां दफन कर दिया था। आरोपी को उत्तर प्रदेश के भदोही से गिरफ्तार करके पुलिस उसे पानीपत ला रही है। आपको बता दे पुलिस जाँच में खुलासा हुआ है की आरोपी शादीशुदा अहसान सेफी ने 3 साल पहले डॉटकॉम के सहारे 32 वर्षीय नजनिन से शादी की थी। शादी के बाद बॉम्बे से रहने के लिए पानीपत पहुंचा आरोपी यंहा कारपेंटर का काम करने लगा। लेकिन पहली पत्नी के साथ कई बार इसको लेकर विवाद हुआ तो आरोपी ने उन्हें रास्ते से हटाने के लिए उन्हें मारकर जमीन में दबा दिया और फिर मकान को बेचकर भदोई फरार हो गया। पुलिस जाँच में शावो की शिनाख्त आरोपी की पत्नी नजनिन व् बेटेशाहिल ,साबिर के रूप में हुई है।

आपको बता दे पानीपत के सनौली रोड इलाके में स्थित शिव नगर में मंगलवार को एक मकान की मरम्मत के दौरान 3 कंकाल मिल थे। इस बारे में मकान की मालकिन सरोज ने बताया था कि उसने करीब दो साल पहले यह मकान शुगर मिल में कार्यरत पवन नामक व्यक्ति से खरीदा था। जब पवन से पूछताछ की गई तो पवन ने बताया था कि उसने यह मकान फुल पेंमेंट एग्रीमेंट पर अगस्त 2018 में खरीदा था। जब सौदे के दौरान उसने मकान बेचने वाले अहसान से उसके पत्नी और बच्चों के बारे में पूछा तो उसने उनके जगदीश नगर में रहने की बात कही थी। अगले ही दिन उसने एग्रीमेंट करा दिया। इसके कुछ दिन बाद पवन ने यह मकान 2017 में पति आदेश से तलाक ले चुकी सरोज को बेच दिया। उससे पहले आरोपी अहसान सेफी इसका मालिक था। पुलिस ने जाँच में उसे काबू किया है।

तमाम तहकीकात के बाद पता चला कि इस मकान को बेचने वाला अहसान और उसका परिवार पड़ोस में किसी से वास्ता भी नहीं रखता था। शक यकीन में तब्दील होने के बाद पुलिस शाम को ही भदोही रवाना हो गई। वहां पूछताछ में अहसान ने कबूल कर लिया है कि उसने ही हत्या करके तीनों शव दबाए थे। भदोही से पानीपत पुलिस उसे गिरफ्तार करके ला रही है।जिसे आज पानीपत न्यायालय में पेश कर पुलिस ने उसे दस दिन के रिमांड पर लिया है ताकि हत्या के असली कारणों ,हत्या में और कोण शामिल सहित अन्य जानकारी जुटाई जा सके। वंही आरोपी अब भी भदोई में शादी डॉट कॉम के जरिये शादी कर रह रहा था। पुलिस उस महिला को भी जाँच में शामिल करेगी।





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.