स्वस्थ रहना ही इंसान की सबसे बड़ी पूंजी – ओएसडी अमरेन्द्र सिंह

0
Advertisement
शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ओएसडी अमरेन्द्र सिंह ने कहा कि शास्त्रों में लिखा है कि स्वस्थ रहना है इंसान की सबसे बड़ी पूंजी है,अगर व्यक्ति का स्वास्थ्य ही ठीक नहीं होगा तो सारी सुविधाएं उसके लिए बेकार है। हर इंसान को सबसे पहले अपने स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि स्वस्थ व्यक्ति ही राष्ट्र के नवनिर्माण में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।

ओएसडी शुक्रवार को स्थानीय सेक्टर-14 कृष्णा मंदिर में सनराईज अस्पताल नई दिल्ली द्वारा मुफ्त स्त्री रोग, नाक, कान,गला एवं हड्डी रोग जांच शिविर के उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे। इस मौके पर ओएसडी ने अपने सम्बोधन में देश के महान वीर सपूत शहीद भगत सिंह,राजगुरू व सुखदेव के बलिदान दिवस को याद किया और उन्हें अपनी भावभीनी श्रंद्धाजलि दी।

Advertisement

जांच शिविर में ओबीसी मोर्चा भाजपा के जिला महामंत्री प्रवीन कुमार वर्मा,घरौंडा के पूर्व विधायक रमेश कश्यप, डा०सुचिता, डा०पीयूष वर्मा ने ओएसडी का फूलों के गुच्छे के साथ स्वागत किया और स्मृति चिन्ह भेंट किया। इस अवसर पर भाजपा महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष मीना काम्बोज भी उपस्थित थी।

ओएसडी अमरेन्द्र ने कहा कि सरकार द्वारा लोगों को बेहतरीन चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से सरकारी अस्पतालों में भी आधुनिक मशीनों से लोगों के स्वास्थ्य की जांच कर उनकी बीमारियों का ईलाज करवाया जा रहा है। करनाल जिला चिकित्सा के क्षेत्र में और भी आगे बढ़ गया है।

यहां पर कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज की स्थापना हो चुकी है तथा चिकित्सा विश्वविद्यालय की स्थापना को लेकर कार्य जारी है। करनाल एक ऐसा महत्वपूर्ण स्थान है,जो कि दिल्ली और चंडीगढ़ के मध्य स्थित है। ऐसे क्षेत्र में बड़े-बड़े मेडिकल संस्थानों की स्थापना करना सरकार का एक सराहनीय कदम है। आने वाले दिनों में करनाल उत्तर भारत का एक सबसे सुंदर शहर बनने जा रहा है।

उन्होंने सनराईज हॉस्पिटल नई दिल्ली की ओर से करनाल क्षेत्र के लोगों के लिए लगाए गए स्वास्थ्य जांच शिविर के लिए आयोजकों का आभार प्रकट किया और कहा कि प्राईवेट होस्पिटलों द्वारा भी गरीब लोगों को आधुनिक चिकित्सा सेवाएं तथा मुफ्त में ईलाज किया जा रहा है,जोकि की एक पुन्य का कार्य है। उन्होंने सनराईज अस्पताल के डॉक्टरों का आभार प्रकट करते हुए कहा कि यह शिविर और भी महत्वपूर्ण बन गया है, क्योंकि इस शिविर में महिलाओं के स्वास्थ्य की विशेष तौर से जांच की जा रही है।

इस मौके पर महिला रोग विशेषज्ञ डा०सुचिता ने बताया कि रसोली की समस्या, महावारी के समय ज्यादा दर्द होना,बच्चेदानी का बाहर आना,बच्च ना होना तथा बार-बार गर्भपात होना,बच्चेदानी के कैंसर होने का शक,खून की गांठे आना,महावारी का लम्बे समय तक चलना,हंसने व खांसने पर पेशाब निकलना इत्यादि बीमारियों से निजात दिलाने के लिए महिलाओं के स्वास्थ्य की जांच की गई है।

उन्होंने बताया कि दूरबीन से सर्जरी की जाती है। इस आधुनिक तकनीक से मरीज एक दो दिन में ही दैनिक दिनचर्या में आ जाता है और ना ही उसके स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। आज के शिविर में करीब 80 मरीजों ने अपने स्वास्थ्य की जांच करवाई, इनमें नाक,कान,गला व हड्डी रोग के मरीज भी शामिल है।


शेयर करें।
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.